Breaking Newsताजा खबरदेश- दुनियाराजनीति

अब राहुल करेंगे मणिपुर का दौरा

दिल्ली : कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी लोकसभा में नेता प्रतिपक्ष का पद संभालने के बाद पहली बार मणिपुर जाएंगे. कांग्रेस ने कहा है कि वह सोमवार 8 जुलाई को इस पूर्वोत्तर राज्य का दौरा करेंगे. नेता प्रतिपक्ष बनने के बाद से राहुल गांधी ने पहले हाथरस अलीगढ़ का दौरा किया. जबकि इसके बाद वह गुजरात भी गए. इसके उपरांत उनका मणिपुर दौरा होने वाला है. कांग्रेस का कहना है कि राहुल गांधी ने साफ कहा है कि नेता प्रतिपक्ष जनता की आवाज उठाने वाला पद है. इसके लिए वह सभी राज्यों के लोगों से मिलेंगे. उनके लगातार दौरे यह बता रहे हैं कि वह जनता की आवाज सुनने और उसे संसद तक पहुंचने के लिए कार्य कर रही है. राहुल गांधी लगातार मणिपुर मामले को सड़क से लेकर सदन तक उठाते रहे हैं. वह इस मामले में सीधे केंद्र सरकार को कठघरे में खड़ा करने का भी प्रयास करते रहे हैं. उन्होंने सीधे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री ने एक बार भी मणिपुर पर एक शब्द नहीं बोला है. यहां तक की 18वीं लोकसभा के पहले सत्र में विपक्ष उनसे मणिपुर पर बयान की मांग करता रहा. लेकिन प्रधानमंत्री खामोश बने रहें. कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने अपनी भारत जोड़ो न्याय यात्रा की शुरूआत भी मणिपुर के थौबल से की थी. एक साल से अधिक समय से हिंसा से प्रभावित मणिपुर की दोनों लोकसभा सीट इस बार कांग्रेस ने जीती है.

फिर उठाया अग्निवीर का मुद्दा

राहुल ने दावा किया कि पंजाब के शहीद अग्निवीर अजय कुमार के परिवार को सरकार ने कोई मुआवजा नहीं दिया और परिवार को बीमा की राशि मिली है. उन्होंने एक वीडियो जारी कर कहा कि मुआवजे और बीमा में फर्क होता है तथा शहीद के परिवार को सिर्फ बीमा कंपनी की ओर से भुगतान किया गया है. सरकार की ओर से जो सहायता शहीद अजय कुमार के परिवार को मिलनी चाहिए थी, वो नहीं मिली है.

मजदूरों को हक दिलाकर रहेंगे

राहुल ने आरोप लगाया कि केंद्र में प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व वाली सरकार के दौरान मजदूरों और उनके परिवारों का भविष्य खतरे में है. मेहनतकश मजदूरों को अधिकार, सुरक्षा और सम्मान दिलाना उनका संकल्प है.

रेलवे का दिल्ली स्टेशन दौरे पर सवाल

रेलवे ने कहा है कि हाल ही में जब राहुल गांधी नई दिल्ली रेलवे स्टेशन गए थे. उस समय उनकी मुलाकात जिन लोको पायलट से होते हुए दिखाई गई है. वे रेलवे का हिस्सा नहीं है. उनमें से कोई भी रेलवे का लोको पायलट नहीं है. यह संभव है कि वे बाहरी लोग हों. रेलवे के इस बयान के बाद भाजपा ने कांग्रेस पर हमला करते हुए कहा है कि राहुल गांधी ने अभिनेताओं से मुलाकात की थी. कुछ अभिनेताओं को लोको पायलट बनाकर लाया गया था. राहुल गांधी को चाहिए कि वे इस तरह का अभिनय बंद करें.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button